INDIA

ब्रिटेन: ब्रिटेन के विदेश मंत्री ने महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में राष्ट्रपति मुर्मू के पहुंचने पर जताया उनका आभार 

आभार: भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए तीन दिवसीय यात्रा पर लंदन गई थीं। वहां उन्होंने भारत सरकार व भारत के लोगों की ओर से उन्हें श्रद्धांजलि दी थी। ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का अंतिम संस्कार 19 सितंबर को कड़ी सुरक्षा के बीच हुआ। महारानी का अंतिम संस्कार 19 सितंबर को लंदन के वेस्टमिंस्टर एब्बे में किया गया।

ब्रिटेन के विदेश मंत्री जेम्स क्लेवरली ने महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में भारत की ओर से राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के पहुंचने पर उनका आभार जताया है। संयुक्त राष्ट्र महासभा के उच्चस्तरीय सत्र से इतर क्लेवरली ने कहा, मैं महारानी के अंतिम संस्कार में राष्ट्रपति को भेजने के लिए भारत का आभार व्यक्त करता हूं। मुझे राष्ट्रपति मुर्मू से मिलने का मौका मिला और यह बहुत मायने रखता है।

महारानी के अंतिम संस्कार की सुरक्षा में करीब 70 लाख अमेरिकी डॉलर यानि 59 करोड़ भारतीय रुपये खर्च हुए। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन भी ब्रिटेन पहुंचें थे।

महारानी के अंतिम संस्कार में लगभग 750,000 लोग शामिल हुए। शाही घराना छोड़ चुके प्रिंस हैरी और मेघन मार्कल को भी शाही सुरक्षा दी गई । 96 वर्ष की आयु में यूनाइटेड किंगडम ऑफ ग्रेट ब्रिटेन एंड नॉर्दन आयरलैंड की महारानी ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने दुनिया को अलविदा कह दिया था। महारानी ने स्कॉटलैंड में अंतिम सांस ली थी। बता दें कि महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने 70 वर्षों तक शासन किया, जो इतिहास में किसी भी ब्रिटिश सम्राट और दुनिया के किसी भी वर्तमान सम्राट से अधिक लंबा था।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular